बुधवार, 24 सितंबर 2014

7. समन्वय:

 प्रबंधन प्रक्रिया में संपूर्ण संगठन की सफलता समन्वय पर ही निर्भर करती है। समन्वय को संगठन का सार कहा जाय तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। किसी भी प्रयास की सफलता के लिए व्यक्तियों में समन्वय तो अनिवार्य आवश्यकता है ही; भौतिक संसाधनों का उपयोग भी समन्वय के साथ ही किया जाता है। मानवीय व भौतिक संसाधनों का समन्वय ही संगठन को जीवन्तता प्रदान करता है। समन्वय से आशय एकता, सहयोग तथा कुशलता सुनिश्चित करने के लिए मानवीय व भौतिक संसाधनों में तालमेल स्थापित करने से है। जैम्स मूनी के अनुसार, ‘समान उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए सामूहिक प्रयासों की इस प्रकार क्रमबद्ध व्यवस्था करना कि कार्यवाही में एकरूपता लाई जा सके।’ समन्वय स्थापित करने के लिए अधिकार एवं उत्तरदायित्वों की स्पष्टता, प्रभावी संप्रेषण, कुूशल नेतृत्व, तथा जाँच एवं सर्वेक्षण आदि उपकरणों का प्रयोग किया जाता है।
एक टिप्पणी भेजें