रविवार, 26 अक्तूबर 2014

निर्णयन कला व विज्ञान दोनों


निर्णय लेना कला व विज्ञान दोनों है। निर्णय प्रबंधक व प्रशासक के लिए ही नहीं वैयक्तिक जीवन में व्यक्ति के लिए भी महत्वपूर्ण होते हैं। निर्णय किसी उद्योग, व्यवसाय, राष्ट्र को प्रभावित करते हैं। एक गलत निर्णय राष्ट्र, संस्था व व्यक्ति के जीवन को बर्बादी के कगार पर ले जा सकता है तो एक सही व सामयिक निर्णय समृद्धि के शिखर पर पहुँचा सकता है। कुशलता का अर्थ ही सही काम, सही ढंग से, सही व्यक्तियों द्वारा, सही स्थान व सही समय पर होना है। निर्णय लेना अनिवार्य है किन्तु सही समय पर सही निर्णय लेना सक्षम व कुूशल प्रबंधक का ही कार्य है। निर्णय सभी व्यक्ति लेते हैं किन्तु सभी व्यक्ति निर्णयन विज्ञान में पारंगत व निर्णय कला के कुशल कलाकार नहीं होते। निर्णय की कला व विज्ञान में कुशल व पारंगत व्यक्ति को सफलता की चिन्ता नहीं करनी पड़ती, सफलता स्वयं ही उनके पास चलकर आती है।

एक टिप्पणी भेजें