शुक्रवार, 18 दिसंबर 2015

औकात केवल चरित्र और कर्मो से बदलती है


एक टिप्पणी भेजें