शुक्रवार, 22 जनवरी 2016

सफ़लता के लिये जीवन का यूं करें प्रबन्धन

 सफ़लता के लिये कोई निश्चित

सूत्र निर्धारित करना कठिन कार्य 

है फ़िर भी व्यक्तिगत कुशलता 

सुनिश्चित करके ही सफ़लता की 

अनुभूति कर सकते हैं! व्यक्तिगत 



प्रयास श्रेष्ठतम ढंग से करके श्रेष्ठतम परिणामों की अपेक्षा की जा


 सकती है किन्तु सफ़लता तो आत्मसन्तुष्टि पर ही निर्भर है और

 उसमें पूरी ईमानदारी की आवश्यकता है!



ईमानदारी से डिगना श्रेष्ठता से डिगना भी है!

एक टिप्पणी भेजें