शुक्रवार, 28 जनवरी 2011

माफ़िया राज का जबाब प्रबन्धन द्वारा व्यावसायिक नीतिशास्त्र से

तेल माफ़िया के द्वारा महाराष्ट्र में मालेगांव के अतिरिक्त जिलाधिकारी को जिन्दा जलाकर मार डालने की घटना केवल प्रशासन व सरकार के लिये ही खतरनाक नहीं है वरन संपूर्ण देश के लिये दुर्भाग्य पूर्ण है. सरकार को इस प्रकार के सुधार करने चाहिये कि अपराधियों पर नियंत्रण लगे. माफ़िया राज खत्म हो और अधिकारी ही नहीं कर्मचारी व सामान्य नागरिक भी निर्भय होकर अपने कर्तव्यों का संपादन कर सकें.
       इसके अतिरिक्त तेल उद्योग में लगे प्रबंधन को ही नहीं, परिवहन उद्योग के प्रबन्धन को भी ध्यान दिये जाने की आवश्यकता है कि वे येन-केन प्रकारेण लाभ कमाने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाकर सामाजिक उत्तरदायित्व व  व्यावसायिक नीति शास्त्र (Ethics) को व्यवसाय संचालन का मूल आधार बनाने का भरसक प्रयत्न करें.
      यद्यपि यह दीर्घकाल में परिणाम देने वाले प्रयास कहे जा सकते हैं किन्तु स्थाई परिवर्तन दीर्घकाल में ही होते हैं. व्यवसायिक क्षेत्र की समस्त समस्याओं का समाधान तो अन्ततः प्रबंधन को ही सरकार व समाज के सहयोग से तलाशना होगा.
एक टिप्पणी भेजें